मेरी कहानी — A Charismatic Desire


ख़्वाबों में, ख्यालों में ख्वाहिशों में, और इन बरसातों में कहा है वो जिसे ढूंढता हू इन काली रातो में ? वो है भी यहीं, और है भी नहीं| ना जाने मिलेगी कैसे कोई जानता नहीं | मेरी किस्मत में है दोष, या हूँ अब भी मैं मदहोश, नशा उसका ये उतरता ही […]

via मेरी कहानी — A Charismatic Desire

Advertisements

Replied with Smile

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s